GIRLS HOSTEL MMS कांड के बाद CHANDIGARH UNIVERSITY के STUDENTS सड़क पर उतरे! | CRIME TAK

मोहाली की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में शनिवार रात अचानक हंगामा बरप उठा... छात्राओं का अश्लील वीडियो वायरल होने के मुद्दा उठा...स्टूडेंट्स सड़क पर उतर आए...नारेबाजी की... आरोपों की पूरी जांच की मांग की... छात्रों के जबरदस्त हंगामे...यूनिवर्सिटी प्रशासन की सफाई...तमाम जांच... पुलिस की तफ्तीश के बाद अब मोहाली की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी को लेकर जितनी मुंह उतनी बातें हो रही हैं... पुलिस कह रही है कि कुछ हुआ ही नहीं है....लेकिन वार्डन का वायरल वीडियो कह रहा है कि बहुत कुछ हुआ है....तो चलिए वार्डन के वीडियो से शुरू करते हैं... और पुलिस की थ्योरी तक आते हैं...हॉस्टल की महिला वार्डन का ये वीडियो घटना के बाद का है...जिसमें वार्डन आरोपी लड़की को फटकार रही है...उसे हॉस्टल से निकालने की धमकी दे रही है...महिला वार्डन बार-बार आरोपी लड़की से पूछ रही है कि वीडियो क्यों बनाया? किसे भेजा? क्यों भेजा? किसके कहने पर भेजा...इन सवालों के जवाब में आरोपी लड़की क्या कह रही है ये साफ सुनने में नहीं आ रहा रहा है...। लेकिन हाव भाव से ऐसा लग रहा है कि वार्डन जो पूछ रही है उसका जवाब आरोपी के पास नहीं है ..अब इस घटना का दूसरा वीडियो देखिए...यूनिवर्सिटी कैंपस में छात्र हंगामा कर रहे हैं...छात्रों का कहना है कि हॉस्टल की लड़कियों के आपत्तिजनक वीडियो लीक हुए इसलिए विरोध हुआ...चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की छात्रा पर आरोप है कि उसने हॉस्टल की लड़कियों का आपत्तिजनक वीडियो बनाया और शिमला में बैठे किसी शख्स को भेज दिया...दावा किया गया कि एक नहीं पूरे 60 लड़कियों के वीडियो लीक हुए हैं...पुलिस ने कहा एक भी वीडियो लीक नहीं हुआ...सिर्फ आरोपी लड़की का वीडियो बेपर्दा हुआ है...हालांकि अब सवाल ये है कि अगर वीडियो लीक नहीं हुआ तो फिर यूनिवर्सिटी की वार्डन उस छात्रा को क्यों फटकार रही थी? वार्डन किस वीडियो की बात कर रही थी? उसने आरोपी लड़की को क्यों धमकी दी कि अब उसका वीडियो उसी हालत में बनाएंगे?...इसके जवाब में मोहाली के एसएसपी ने कहा कि लड़की ने सिर्फ अपना वीडियो बनाया.. और उसे ही अपने दोस्त को भेजा था... बाकी सभी बातें और दावे निराधार हैं...पंजाब महिला आयोग की टीम, मोहाली के कलेक्टर.. स्टूडेंट वेलफेयर के अध्यक्ष ने भी यही बात दोहराई कि कोई भी वीडियो लीक नहीं हुआ है...आगे की जांच जारी है...अब सवाल ये है कि अगर लड़की ने अपनी ही तस्वीरें और वीडियो किसी मित्र को भेजा तो फिर इस पर किस तरह का केस बनता है? अगर लड़की ने अपना ही वीडियो फोटो बनाया तो वार्डन किस बात के लिए उसे फटकार रही थी? वार्डन की फटकार और पुलिस प्रशासन की थ्योरी बेमेल क्यों है?..ये वो सवाल हैं जिनका जवाब निष्पक्ष जांच से ही सामने आएगा। फिलहाल पंजाब पुलिस ने आरोपी लड़की को गिरफ्तार कर लिया है.. उसके मोबाइल फोन की भी जांच की जा रही है। मामला तब और साफ होगा जब शिमला में मौजूद लड़के से पूछताछ होगी