एनआईए का पूरा नाम National Investigation Agency है, जिसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी के नाम से भी जाना जाता है। 

देश में बढ़ते आतंकवाद को खत्म करने और देश विरोधी ताकतों पर लगाम लगाने के लिए एनआईए (NIA) का गठन किया गया था।

वर्ष 2008 में मुंबई पर हुआ आतंकवादी हमले के बाद ऐसे जांच एजेंसी की सख्‍त जरूरत महसूस हुई

एनआईए का गठन 31 दिसंबर 2008 को भारत की संसद द्वारा पारित अधिनियम के तहत किया गया

एनआईए केंद्र सरकार के अधीन रहकर आतंकवादी गतिविधियों पर नजर रखती है.

देश की अन्य जांच एजेंसियों से अलग एनआईए को विशेष अधिकार प्रदान किए गए हैं


 एक स्वतंत्र जांच एजेंसी है, जो आतंकवाद, आतंकवाद के सपोर्टर, जाली मुद्रा, अवैध हथियार, नशीली दवाओं और मानव तस्करी जैसे मामलों की जांच  करती हैं

एनआईए देश में कहीं भी आतंकवाद से जुड़े मामले की जांच कर सकती है.इसे राज्य सरकार से अनुमति लेने की जरूरत नहीं होती है। 

Want more stories
like this?