कल से छठ पूजा की शुरुआत हो चुकी है.

   चार दिनों तक चलने वाला यह त्योहार की शुरुआत 28 अक्टूबर 2022 को नहाय खाय की परंपरा से हो गया है.

 आज 29 अक्टूबर को छठ का दूसरा दिन जिसे लोग खरना कहते है.

 खरना के दिन छठ व्रती सूर्योदय से पूर्व स्नान कर सबसे पहले सूर्य देवता की पूजा करते है.

   उसी दिन शाम के समय मिट्टी के चूल्हे पर आम की लकड़ी लगाकर साठी के चावल, गुड़ और दूध की खीर बनाई जाती है.

   इस दिन प्रसाद सबसे पहले छठी मईया को अर्पण किया जाता है और फिर व्रती यही भोजन करती और फिर घर के बाकी सदस्य  करते है.

   इसके बाद से अन्न, जल का 36 घंटे के लिए त्याग कर निर्जला व्रत किया जाता है और उपवास का समापन छठ पूजा के चौथे दिन भोर अर्घ्य के साथ खत्म होता है.

Want more stories
like this?