कांग्रेस में कैसे होता है अध्यक्ष पद का चुनाव ?

कांग्रेस में अध्यक्ष पद का चुनाव उसी तर्ज पर होता है,जैसे देश का चुनाव होता है.

कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुुनाव कोई भी पार्टी सदस्य लड़ सकता है.

 जिसके पास प्रदेश कांग्रेस कमेटी के 10 सदस्यों का समर्थन हो,वो अध्यक्ष पद के लिए नामांकन कर सकता हैं.

कांग्रेस संविधान के मुताबिक अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए सबसे पहले एक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किया जाता है.

रिटर्निंग अधिकारी के सामने तय तारीख पर उन नामों को रखा जाता है जो अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ना चाहते है. 

उनमें से कोई भी सात दिन के भीतर अपना नाम वापस लेना चाहे तो ले सकता है.

अगर नाम वापस लेने के बाद अध्यक्ष पद के लिए केवल एक ही उम्मीदवार रहता है तो उसे अध्यक्ष मान लिया जाता है.

अगर दो या उससे अधिक लोग अध्यक्ष पद के उम्मीदवार होते हैं तो वोटिंग होती हैं. 

वोटिंग के दिन जो लोग वोट डालते है वो किसी एक का नाम लिख कर बैलेट बॉक्स में डालते हैं.

अगर अध्यक्ष पद की रेस में दो से ज्यादा उम्मीदवार है तो कम से कम दो प्रेफरेंस देना होता है.

अध्यक्ष पद के लिए वही लोग वोट डाल सकते है जो प्रदेश कांग्रेस कमिटी (पीसीसी) के सदस्य हैं.

Want more stories
like this?