शुरू हुआ लोक आस्था का महापर्व 'छठ'. जानें समय और शुभ योग!

हिंदू पंचांग के मुताबिक, छठ पूजा हर साल कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि
 को मनाया जाता है. 

छठ पूजा में भगवान सूर्य की पूजा का विशेष महत्व है. छठ का व्रत काफी कठिन होता है क्योंकि इस दौरान व्रती को लगभग 36 घंटे तक निर्जल व्रत रखना होता है.

इस पर्व पर महिलाएं व्रत रखकर नदी या तालाब में खड़े होकर अस्ताचल गामी भगवान सूर्य को अर्घ्य देती हैं तथा दीप जलाकर रात्रि जागरण के साथ गीत कथा के द्वारा भगवान सूर्यनारायण की महिमा का बखान करती है.

चार दिनों के महापर्व छठ की शुरुआत चतुर्थी तिथि (28 अक्टूबर) को नहाय-खाय से होती है. दूसरे दिन खरना, तीसरे दिन डूबते सूर्य और चौथे दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है.

 छठ पूजा का पहला अर्घ्य इस साल 30 अक्टूबर 2022 को दिया जाएगा. इस दिन सूर्यास्त की शुरूआत  05 बजकर 34 मिनट से होगी.

31 अक्टूबर के दिन उगते हुए सूरज को अर्घ्य दिया जाएगा. इस दिन सूर्योदय 6 बजकर 27 मिनट पर होगा, फिर पारण करने के बाद छठ पर्व का समापन होगा.

Want more stories
like this?