क्या है वायुसेना में शामिल हुआ
लड़ाकू हेलिकॉप्टर 'प्रचंड' की खासियत? 

ये एक लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर (LCH) है. इसे अपने देश में सरकारी कंपनी हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने विकसित किया है.
 LCH को 'प्रचंड' नाम दिया गया है.

लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर 268 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ सकता है. इसमें 2 लोग बैठ सकते हैं. इसकी लंबाई 51.10 फीट और ऊंचाई 15.5 फीट है. इसका वजन 5800 किलोग्राम है.

इस हेलिकॉप्टर में Destruction of Enemy Air Defence (DEAD) की क्षमता मौजूद है यानी जरूरत पड़ने पर यह दुश्मन के एयर डिफेंस को नाकाम कर सकता है.

इसके अलावा  ये हेलिकॉप्टर Counter-insurgency और Combat search and rescue (CSAR) जैसे रोल को अंजाम देने
 में भी सक्षम है.

LCH सभी मौसम में हमला करने की तकनीक से लैस है. इसका मुख्य उद्देश्य हाई एल्टीट्यूड वाले क्षेत्रों में सेना को घातक कॉम्बैट कैपासिटी उपलब्ध कराना है. 

 इसका कॉम्बैट रेंज 550 किलोमीटर है.
 यह एक बार में लगातार सवा तीन
 घंटे उड़ सकता है.

इस हेलिकॉप्टर में अत्याधुनिक एवियोनिक्स सिस्टम लगा है. ये सिस्टम मिसाइल का टारगेट बनते ही सूचना दे देते हैं. इसके अलावा राडार एंड लेजर वॉर्निंग सिस्टम लगा है.

बता दें, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जोधपुर एयरबेस पर भारतीय वायुसेना को 10 लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर सौंपे.

Want more stories
like this?