फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर छिड़ा संग्राम. जानिए क्या है मामला?

 'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर संग्राम छिड़ गया है. मामला ये है कि इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (IFFI) के जूरी हेड नदव लैपिड ने मूवी को 'वल्गर प्रोपेगेंडा' बताया है.

गोवा में चल रहे 53वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) के समापन समारोह में इजराइली फिल्म मेकर के इस बयान के बाद बवाल मचा हुआ है.

बता दें, नदाव लैपिड जब फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को लेकर बयान दे रहे थे, उस समय मंच पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भी
 मंच पर मौजूद थे.

लैपिड का नाम जूरी हेड के लिए करण जौहर, प्रसून जोशी, मनोज मुंतशिर, खुशबू सुंदर, प्रियदर्शन, बॉबी बेदी, हृषिता भट्ट, निखिल महाजन, ​​​​​​रवि कोट्‌टाराकारा, सुखविंदर सिंह और वाणी त्रिपाठी ने सुझाया था.

 सोशल मीडिया पर इसे लेकर बड़ी बहस छिड़ गई है. अनुपम खेर के बाद फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री का भी रिएक्शन आ गया है. उन्होंने मूवी की आलोचना करने वालों पर पलटवार किया है.

 बहरहाल, इजराइल के राजदूत नाओर गिलोन ने लैपिड के इस बयान पर उन्हें कड़ी फटकार लगाई. उन्होंने कहा- 'लैपिड का बयान असंवेदनशील और अभिमान से भरा हुआ है.
             उन्हें शर्म आनी चाहिए.'         

फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' 11 मार्च 2022 को रिलीज हुई थी. फिल्म में कश्मीरी हिंदुओं के पलायन और नरसंहार की दर्दनाक कहानी को दर्शाया गया है. इसने बॉक्स ऑफिस पर 290 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई की थी.

Want more stories
like this?