मार्क जुकरबर्ग ने 11 हजार कर्मचारियों  को कंपनी से निकाला. जानें वजह! 

फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम की पैरेंट कंपनी मेटा ने 11 हजार को नौकरी से निकाल दिया है. 18 साल के इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में कर्मचारियों की छंटनी हुई है.

बता दें, निकाले गए 11 हजार लोगों में फेसबुक के अलावा वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम के भी कर्मचारी हैं. सितंबर 2022 के अंत तक मेटा में 87,314 कर्मचारी थे. 

कर्मचारियों को निकालने का ऐलान खुद कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव मार्क जुकरबर्ग ने की. उन्होंने इसके पीछे की वजह रेवेन्यू में गिरावट को बताया.

जुकरबर्ग ने ब्लॉग के जरिये बताया, 'आज मैं मेटा के इतिहास में किए गए सबसे कठिन फैसलों के बारे में बताने जा रहा हूं. हमने अपनी टीम की साइज में करीब 13% की कटौती करने का फैसला किया है.'

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेटा की ह्यूमन रिसोर्स हेड लोरी गोलर ने बताया कि निकाले गए एम्प्लॉइज को चार महीनें की  सैलरी दी जाएगी.
 

रिपोर्ट के मुताबिक, 2004 में अपनी स्थापना के बाद से कंपनी की यह सबसे बड़ी छंटनी है.

Want more stories
like this?